MBBS 2021 in India: Worthwhile

MBBS कोर्स विवरण

डिग्रीस्नातक
फुल फॉर्मबैचलर ऑफ मेडिसिन, बैचलर ऑफ सर्जरी  
समयएमबीबीएस कोर्स की अवधि 5.5 वर्ष है।  
आयुएक व्यक्ति के लिए ऊपरी आयु सीमा 25 . है  
न्यूनतम प्रतिशतकिसी मान्यता प्राप्त बोर्ड के साथ 10+2 में 50%  
आवश्यक विषय 10+2,जीव विज्ञान, रसायन विज्ञान और भौतिकी
औसत शुल्कएमबीबीएस कोर्स की फीस INR 70,000 – 21 लाख प्रति वर्ष है
समान अध्ययन विकल्पबीडीएस, बीएचएमएस और बीएएमएस  
औसत वेतनभारत का औसत एमबीबीएस वेतन सालाना 3.6 लाख रुपये है  
रोजगार भूमिकाएंसामान्य सर्जन, चिकित्सा अधिकारी, निवासी चिकित्सा अधिकारी, एनेस्थेसियोलॉजिस्ट, बैक्टीरियोलॉजिस्ट, चिकित्सक, मुख्य चिकित्सा अधिकारी आदि  
प्लेसमेंट के अवसरकई स्वास्थ्य देखभाल विकल्प उपलब्ध हैं: निजी और सार्वजनिक अस्पताल, निजी प्रैक्टिस, स्कूलों में इन-हाउस डॉक्टर और अन्य सुविधाएं।  

MBBS कोर्स

MBBS कोर्स का फुल फॉर्म लैटिन भाषा से लिया गया है। यह मेडिसिन की दो अलग-अलग शाखाओं को दर्शाता है जो कि Medicinae Baccalaureus और Baccalaureus Chirurgiae है। अंग्रेजी में, एमबी का मतलब  बैचलर ऑफ मेडिसिन है और दूसरे दो अक्षर बैचलर ऑफ सर्जरी के लिए हैं। MBBS प्रोग्राम 51/2 साल तक चलता है। इसमें 4.5 साल का एकेडमिक कोर्स और 1 साल का इंटर्नशिप शामिल है। इस पाठ्यक्रम की अवधि नौ सेमेस्टर में विभाजित है, इसके बाद एक साल का लाइव प्रशिक्षण/ इंटर्नशिप होता है।

यह एक अंडरग्रेजुएट डिग्री प्रोग्राम है जिसमें मेडिसिन और सर्जिकल दोनों विषय शामिल हैं। हालांकि नाम का अर्थ दो डिग्री है, पर आपको एक सिंगल डिग्री प्रप्त होती है। इस कोर्स में छात्र चिकित्सा और शल्य चिकित्सा दोनों विधियों के बारे में सीखते है। फिर आगे चलकर उन्हे अपनी रुचि के आधार पर किन्ही दो विधियों में से किसी एक स्ट्रीम को मास्टर प्रोग्राम अध्ययन के लिए चुनना होता हैं,

भारत में MBBS पाठ्यक्रम प्रदान करने वाले शीर्ष विश्वविद्यालयों / कॉलेजों के नाम हैं:

  1. एम्स – अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, नई दिल्ली
  2. क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज, वेल्लोर
  3. मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज – एमएएमसी
  4. लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज – एलएचएमसी
  5. सशस्त्र बल मेडिकल कॉलेज, पुणे, आदि MBBS कार्यक्रम के लिए भारत के शीर्ष MBBS कॉलेजों में से हैं।

इस कोर्स के पात्र होने के लिए, छात्रों को कुछ पात्रता आवश्यकताओं को पूरा करना होगा। लगभग सभी भारतीय मेडिकल कॉलेज NEET UG मेडिकल प्रवेश स्वीकार करते हैं। एमबीबीएस प्रवेश के लिए राष्ट्रीय स्तर और विश्वविद्यालय स्तर के प्रवेश हैं, और प्रक्रिया प्रत्येक कॉलेज में भिन्न होती है। चिकित्सा क्षेत्र में बहुत रोजगार है। एमबीबीएस नौकरी का दायरा निजी और सार्वजनिक दोनों क्षेत्रों में प्रचुर मात्रा में है और उम्मीदवार को विदेश या भारत में उच्च अध्ययन करने के लिए व्यापक अवसर प्रदान करता है।

हम आशा करते हैं आपको इस लेख से कुछ लाभ हुआ होगा और आप आपके ज्ञान का उपयोग कर चिकित्सा क्षेत्र में देश की सेवा कर सकेंगे ।

Leave a Comment